कम्प्यूटर क्या है इसकी उपयोगिता एवं विशेषताएं बताइए What is computer in hindi complete tutorial

आज के इस Topic में कम्प्यूटर क्या है इसकी उपयोगिता एवं विशेषताएं बताइए What is computer in hindi complete tutorial को विस्तार से समझने की कोशिश करते हैं।

कम्प्यूटर क्या है

कम्प्यूटर का हिन्दी नाम “संगणक” हैं। क्योंकि यह बड़ी से बड़ी गणना करने में सक्षम है। कम्प्यूटर शब्द अंग्रेजी के “Compute” शब्द से बना है। जिसका अर्थ गणना करना होता है। इसलिए इसे गणक या संगणक भी कहा जाता है। इसका आविष्कार गणना करने के लिए हुआ था। पुराने समय में कम्प्यूटर का उपयोग केवल Calculation करने के लिए किया जाता था। किन्तु आज कल इसका उपयोग Document बनाने में, Email भेजने में, Song सुनने में, के साथ-साथ घरों में, बैंकों में, दुकानों में उपयोग होने लगा है। कम्प्यूटर केवल वह काम करता हैं, जो हम उसे करने को कहते है। उसके अंदर सोचने समझने की क्षमता नहीं होती है। कम्प्यूटर को जो चलाता है, उसे “User” कहते हैं। और जो व्यक्ति कम्प्यूटर के लिए Program बनाता है, उसे “Programmer” कहते हैं।

कम्प्यूटर क्या है इसकी उपयोगिता एवं विशेषताएं बताइए What is computer in hindi complete tutorial
Computer tutorial in hindi

कम्प्यूटर का फुल फॉर्म (Full form of computer)

बहुत सारे लोग कम्प्यूटर की फुल फॉर्म अलग-अलग बताते हैं, लेकिन सच में कम्प्यूटर का कोई फुल फॉर्म नहीं

होता है। बहुत सारे Lab में कम्प्यूटर के फुल फॉर्म

C= commonly

O= operating

M= machine

P= particularly

U= used for

T= technically

E= educational

R= research

बताई गई हैं। लेकिन बाद में कम्प्यूटर को उसके Function के अनुसार Define की गई। कम्प्यूटर दो वर्ड “Comp or Puter” से मिलकर बना है।

कम्प्यूटर का इतिहास (History of computer)

मानव के लिए गणना करना शुरू से ही कठिन रहा है। मनुष्य बिना किसी मशीन के एक सिमीत स्तर तक ही गणना कर सकता है। ज्यादा बड़ी गणना करने के लिए मनुष्य को मशीन पर ही निर्भर रहना पड़ता हैं। इसी जरुरत को पूरा करने के लिए मनुष्य ने कम्प्यूटर का निर्माण किया, यानी गणना करने वाली “मशीन” का निर्माण किया।

कम्प्यूटर क्या है इसकी उपयोगिता एवं विशेषताएं बताइए What is computer in hindi complete tutorial
Computer tutorial in hindi

1. Abacus

Abacus पहला ऐसा कम्प्यूटर था, जो गणना कर सकता था। Abacus का निर्माण लगभग 3000 वर्ष पहले चिन के वैज्ञानिक

ने किया था। यह एक आयताकार फेर्म में लोहे की छड़ों में लकड़ी की गोलियां लगी रहती थी। जिनको उपर-निचे

करके गणना की जाती थी। यानी यह बिना बिजली से चलने वाला पहला कम्प्यूटर था।

2. Blaise Pascal

Abacus के बाद Blaise Pascal का निर्माण हुआ। इसे गणित के विशेषज्ञ Blaise Pascal ने सन् 1642 ईoमे बनाया। यह Abacus से अधिक गति से गणना करता था। यह पहला Mechanical calculator था।

3. Charles babbage

कम्प्यूटर के इतिहास में 19 वी शताब्दी को प्रारंभिक समय का युग्य माना जाता है। अंग्रेज विशेषज्ञ Charles babbage ने एक यांत्रिक गणना मशीन (Mechanical calculation mechine) विकसित करने के लिए आवश्यकता तब महसूस की जब गणना करने के लिए बनी हुई यंत्रों में गलतियां होने लगी। Charles babbage ने सन् 1822 में एक मशीन का निर्माण किया। जिसका व्यय बिर्टीश सरकार ने वहन किया, जिसका नाम “Difference engine” रखा गया। इस मशीन में Gear or Soft लगें थे। यह भाप से चलती थी। सन् 1833 ईoमे Charles babbage ने Difference engine का विकसित रुप “Analytical engine” तैयार किया, जो बहुत ही शक्तिशाली मशीन थी। Charles babbage ने कम्प्यूटर के विकास में बहुत बड़ा योगदान दिया। Charles babbage का Analytical engine आधुनिक कम्प्यूटर का आधार बना और यही कारण है, कि Charles babbage को कम्प्यूटर विज्ञान का जनक कहा जाता है।

4. Zuse-Jed

महान वैज्ञानिक “Konard zuse-z3” नामक एक यंत्र का निर्माण किया। जो कि दिव्आधारी (Binary arithmetic) को एवं चल बिन्दु अंगणकीय

गणनाओं पर आधारित सर्वप्रथम इलेक्ट्रॉनिक कम्प्यूटर था।

5. Dr. Howard aiken’s

सन् 1940 ईoमे विधुत यांत्रिक कम्प्यूटर शिखर पर पहुंच चुका था। “IBM” के चार शिर्ष इंजीनियर और डॉक्टर Howard aiken ने सन् 1944 में एक मशीन विकसित किया यह विश्व का सबसे पहला विद्युतीय यांत्रिक कम्प्यूटर था। और इसका हार्वर्ड विश्वविद्यालय में सन् 1944 में फरवरी माह में भेजा गया जो विश्वविद्यालय में 7 अगस्त 1944 को प्राप्त हुआ। इसी विश्वविद्यालय में इसका नाम “Mark-1” दिया गया। यह 6-second में एक गुणा और 12-second में 1भाग कर सकता था।

ज्यादा जाने –

Leave a Comment