रजिस्टर क्या हैं? रजिस्टर कितने प्रकार का होता हैं? (Register explain in hindi)

रजिस्टर क्या हैं?

एक रजिस्टर एक बाइनरी फंक्शन हैं, जो डिजिटल रूप में बाइनरी जानकारी को छेद देता हैं। और रजिस्टर में बाइनरी स्टोरेज सेल का एक समूह होता हैं। एक रजिस्टर में एक या एक से अधिक फ्लिप-फ्लॉप (Flip-flop) होते हैं, जो एक शब्द में संग्रहित किए जाने वाले बिट्स की संख्या पर निर्भर करता हैं। ब्रॉड सीन में एक रजिस्टर में फ्लिप-फ्लॉप (Flip-flop) होता हैं, जो बाइनरी जानकारी और गेट्स को स्टोर करता हैं।

रजिस्टर के सर्किट के निर्माण के लिए किसी भी प्रकार के फ्लिप-फ्लॉप का उपयोग किया जाता हैं। मास्टर स्लैब फ्लिप-फ्लॉप के रूप में सामान्य रूप से विशेष प्रकार का एरीगमेंट टर्न (Arrigment turn) होता हैं।

रजिस्टर दो प्रकार के होते हैं

1. Parallel output/input register

यह सबसे सरल रजिस्टर में से एक हैं। जिसमें प्रीसेट (Preset), क्लियर (Clear) और क्लॉक पल्स (Clock pulse) इन्पुट

के अलावा डेटा वैल्यू थ्रू डी इन्पुट (D-input) शामिल हैं। यहा हम प्रत्येक चरण में आउटपुट

सिग्नल प्राप्त कर सकते हैं और ये सिग्नल अगले चरणों में भी जोड़े जाते हैं।

2. Serial input/output register

एक अन्य प्रकार का रजिस्टर जो डेटा को बाएँ या दाएँ दो में बदलने के लिए उपयोग किया जाता हैं, उसे शिफ्ट रजिस्टर या सीरियल इन्पुट/आउटपुट रजिस्टर कहा जाता हैं। यह डेटा के अंतिम निर्माण के अंत में आउटपुट सिग्नल का विरोध करता हैं।

काउंटर क्या हैं? (What is counter)

एक काउंटर एक रजिस्टर होता हैं जिसका मूल्य एक से बढ़ जाता हैं। जब काउंटर में मूल्य स्टोर अधिकतम मूल्य को बदल सकता हैं, जो अगले वृध्दिशील मूल्य को 0 हो जाता हैं। काउंटर का उपयोग एनेंट एकोरस (Enent accorus) के समय की संख्या का मुकाबला करने के लिए किया जाता हैं।

(रजिस्टर क्या हैं?)

Personal computer के विभिन्न घटकों, डिवाइस और अनुभाग की पहचान , कम्प्यूटर की कार्य विधि

मदरबोर्ड, इंटेल पेंटियम iv प्रोसेसर की व्यख्या , F1 से F12 कुंजियों का क्या कार्य है? , Von neumann आर्किटेक्चर

Leave a Comment